ચારણત્વ

" આપણા ચારણ ગઢવી સમાજની કોઈપણ માહિતી,સમાચાર અથવા શુભેચ્છાઓ આપ આ બ્લોગ પર પ્રકાશિત કરવા માગતા આ વોટ્સએપ ન.9687573577 પર મોકલવા વિંનતી છે. "

Sponsored Ads

સોમવાર, 25 નવેમ્બર, 2019

भगतबापु नी जन्म जयंती

आजे(ता.25-11-2019) ऐटले  पद्मश्री दुला भाया काग (भगत बापु)नी मी  जन्म जयंती छे.
पद्मश्री कवि दुला भाया काग (भगत बापु ) नो संक्षिप्तमां परिचय मुकवानो नानकडो प्रयास करेल छे.

------------------------------------
नाम          :- दुला भाया काग
पितानुं नाम :- भाया काग
जन्म तारीख :- 25-11-1902
जन्म स्थळ  :- सोडवदरी 
अभ्यास    :- पांच धोरण
काव्य ग्रंथ :- कागवाणी भाग 1 थी 8

भारत सरकार द्रारा ता.26-01-1962 ना रोज पद्मश्री ऐवोर्ड थी पुरस्कृत करवामां आवेल

अवशान :- फागण - सुद-4 अने ता. 22-02-1977

आवी महान विभुतीने तेमनी जन्म जयंति पर कोटी कोटी वंदन

पद्मश्री दुला भाया "काग" नी  जन्म जयंति पर गुजरात गौरव समान कविने नमन.
लोक कविओ तो गुजरात ना प्राण समान छे एमांय दुला काग एेटले जनसाधारणनी शाश्ष्वत मनीषानुं असाधारण प्रतिनिधित्व ...
गुजराती साहित्यना आ शिरोमणी कवि तो आजे आपणी वच्चे नथी पण अेमनो चारणी छांटवाळो शब्ददेह ,भजन , प्रार्थना,दुहा,जेवा स्वरुपोमां जीवी रह्यो छे.
*"काग"* अेटले सर्वमां नोखा तरी आवे अेवा साहित्यकार , चारण कुळमां जन्मेला दुला भाया काग गुजराती भाषाना आगवा रचनाकारोमां शीर्षस्थ छे.
तेमनी रचनाओ लोकबोलीमां , तळपदी शैलीमां खूब गहन , विचार प्रेरक अने चिंतनप्रद बोध आपी जाय छे.


                       *वंदे सोनल मातरम्*

ટિપ્પણીઓ નથી:

ટિપ્પણી પોસ્ટ કરો

Featured Post

केसरी सिंह बारहठजी को जन्मजयंती पर शत् शत् वंदन

केसरी सिंह बारहठ (२१ नवम्बर १८७२ – १४ अगस्त १९४१) एक कवि और स्वतंत्रता सैनानी थे। वो भारतीय राज्य राजस्थान की चारण जाति के थे। उ...